प्रधानमंत्री आवास योजना 2022 Pradhan Mantri Awas Yojana Apply Online

प्रधानमंत्री आवास योजना 2022 Pradhan Mantri Awas Yojana Apply Online

हमारे साथ जानिए कि सरकार द्वारा Pradhan Mantri Awas Yojana 2022 के तहत किस वर्ग को कितना लोन मुहैया करवाया जाता है और उस लोन पर कितनी सब्सिडी प्रदान की जाती है। इसके अलावा PMAY 2022 से जुड़ी अन्य सभी महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में जानने के लिए हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

Pradhan Mantri Awas Yojana 2022

केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के तहत EWS,LIG एवं MIG Group Income से संबंध रखने वाले परिवारों को लाभान्वित किया जाता है। अबतक इस योजना के PMAY शहरी कार्यक्षेत्र द्वारा 58 लाख पक्के घरों और PMAY ग्रामीण कार्यक्षेत्र द्वारा 2.52 करोड़ पक्के घरों का निर्माण किया जा चुका है।

पहले पीएमएवाई -शाहरी की लाभ प्रदान करने की वैधता 31 मार्च सन् 2022 निर्धारित की गई थी जिसे अब बढ़ाकर 30 सितंबर 2022 तक कर दिया गया है यानी अब शहरी इलाकों के पात्र परिवार 30 सितंबर तक इस योजना के तहत घर निर्माण हेतु सीएलएसएस का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

इसके अलावा पीएमएवाई-ग्रामीण की लाभ प्रदान करने की वैधता भी 31 मार्च थी जिसे केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 2.95 करोड़ घरों के निर्माण के लक्ष्य को पूरा करने के लिए 31 मार्च सन् 2024 तक बढ़ा दिया है।

Pradhan Mantri Awas Yojana 2022 के तहत लिए गए यह सभी आवश्यक कदम आने वाले समय में देश के लगभग सभी बेघर, कच्चे घरों , झुग्गी- झोपड़ियों या सड़क के किनारे रहने वाले नागरिकों को खुद का पक्का मकान प्रदान करके प्रधानमंत्री मोदी जी के हाउसिंग फॉर ऑल के मिशन को पूरा करेगें।

प्रधानमंत्री आवास योजना हाईलाइट

योजना का नाम प्रधानमंत्री आवास योजना
योजना के भाग प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना (PMAY-U) प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना (PMAY-G)
आरंभ की गई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
आरंभ तिथि 22 जून सन् 2015
कब तक लागू है PMAY-U 30 सितंबर सन् 2022 तक PMAY-G 31 मार्च सन् 2024 तक
लाभार्थी EWS,LIG,MIG1 एवं MIG 2 से संबंध रखने वाले सभी नागरिक
उद्देश्य पक्के मकान की सुविधा प्रदान करना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
अधिकारिक वेबसाइट https://pmaymis.gov.in/

PMAY के तहत उद्योग संगठन सीआईआई ने की जीवन बीमा सुविधा की विशेष मांग

इस योजना के तहत CII ने केंद्र सरकार से मांग की है कि अगर इस योजना को दोबारा से शुरू किया जाता है तो इसके तहत लाभार्थियों को जीवन बीमा की सुविधा का लाभ भी प्रदान किया जाए।

सीआईआई द्वारा यह विशेष मांग इसलिए की गई है कि किसी स्थिति में लाभार्थी की आकस्मिक मृत्यु या दुर्घटना हो जाती है तो ऐसे में उसके घर निर्माण का कार्य बीच में ही रुक जाएगा और उसके परिवार को लोन चुकाने और अपने जीवन यापन करने में बहुत अधिक आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।

इन सभी समस्याओं को देखते हुए जीवन बीमा की सुविधा की विशेष मांग की गई है। यदि केंद्र सरकार उद्योग संगठन सीआईआई की इस मांग को मंजूर कर लेती है

तो पीएम आवास योजना 2022 के दूसरे चरण में  लाभार्थियों को पक्के घर की सुविधा के साथ-साथ जीवन बीमा की सुविधा भी प्राप्त होगी जो सरकार का इस योजना के तहत लिए गए निर्णय में से एक बहुत ही बड़ा निर्णय होगा।

PMAY के तहत दिए जाने वाले लोन एवं सब्सिडी का विवरण

लाभार्थी वर्ग के प्रकार आवेदन हेतु वार्षिक आय कॉर्पोरेट एरिया सब्सिडी की राशि (%) कैलकुलेट सब्सिडी लोन के अनुसार अधिकतम सब्सिडी (Rs) लोन चुकाने की अधिकतम अवधि
आर्थिक रूप से कमजोर 0-3 लाख 60 वर्ग मीटर 6.50 % 6 लाख 2.67 लाख 20 साल
कम आय वर्ग के नागरिक 3-6 लाख 60 वर्ग मीटर 6.50% 6 लाख 2.67 लाख 20 साल
निम्न आय वर्ग के परिवार 1 (MIG 1) 6-12 लाख 160 वर्ग मीटर 4% 9 लाख 2.35 लाख 20 साल
निम्न आय वर्ग के परिवार 2 (MIG 2) 12-18 लाख 200 वर्ग मीटर 3% 12 लाख 2.30 लाख 20 साल

Pradhan Mantri Awas Yojana के भाग

केंद्र सरकार ने पीएम आवास योजना 2022 का लाभ देश के सभी गरीब नागरिकों तक पहुंचाने के लिए इसे दो भागों में विभाजित कर रखा है। यह दोनों भाग निम्नलिखित इस प्रकार है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना (PMAY-G):

देश में पहले यह योजना इंदिरा आवास योजना के नाम से संचालित की जाती थी। जिसे सन् 2016 में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना मे बदल दिया गया है।

PMAY-G के तहत देश के रूलर एरिया के कच्चे घरों में रहने वाले गरीब परिवारों को पक्का घर और अन्य सुविधाएं जैसे- बिजली की आपूर्ति, स्वच्छता, पानी की सुविधा और शौचालय आदि मुहैया करवाई जाती है।

प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना (PMAY-U)-

इस योजना के माध्यम से देश के अर्बन एरिया यानी शहरी इलाकों के नागरिकों को पक्के मकान की सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए 4331 शहर एवं निकायों को चुना गया था। PMAY-U  को देश में 3 फेज में लागू किया गया है।

  • पहला फेज- देश के 100 चयनित राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में 1 अप्रैल 2015 से लेकर मार्च 2017 तक इस योजना का संचालन पहला फेज में किया गया था।
  • दूसरा फेज–  इस फेज में अप्रैल 2017 से लेकर मार्च 2019 तक 200 शहरों को कवर किया गया था।
  • तीसरा फेज– अप्रैल 2019 से लेकर मार्च 2022 तक बचे शेष शहरों को तीसरे फेज में कवर किया गया है। लेकिन अब इस फेज की अवधि को 30 सितंबर 2022 तक बढ़ा दिया गया है।

आवास योजना उत्तर प्रदेश से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा Pradhan Mantri Awas Yojana के तहत कमजोर आय वर्ग वाले नागरिकों के लिए राज्य के 19 जिलों में 41 लाख फ्लैट बनाए गए हैं और 70 लाख  फ्लैटों का निर्माण कार्य अभी भी जारी है। यह फ्लैट केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार की देखभाल में बन रहे हैं। इन मकानों की बुकिंग 1 सितंबर सन 2020 से शुरू होकर 15 अक्टूबर सन् 2020 तक की जाएगी।

राज्य के नागरिक इन मकानों को किस्तों में 350000 रुपए में खरीद सकेंगे। किस्तों का भुगतान करने के लिए लाभार्थी को 3 साल का समय दिया जाएगा।

जल्द ही उत्तर प्रदेश में इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट की अथॉरिटी भी लागू की जाएगी। सरकार ने अभी तक उद्योग विकास हेतु प्राधिकरण को मंजूरी प्रदान नहीं की थी। लेकिन अब यह मंजूरी प्रदान कर दी गई है। जिससे अब गरीब लोगों के रहने की समस्या दूर हो जाएगी।

  • उत्तर प्रदेश आवास विकास योजना के तहत बनाए गए इन फ्लैटों का कॉर्पोरेट एरिया 22.77 वर्ग मीटर होगा और सुपर एरिया 34.07 वर्ग मीटर है। जिनकी कीमत 6 लाख रुपए निर्धारित की गई है। इसमें से आवेदक को 2.5 लाख रुपए सरकार की ओर से प्रदान किए जाएंगे। यह फ्लैट खरीदने के लिए आवेदक को ₹5000 देकर पंजीकरण करवाना होगा और पंजीकरण करवाने के 30 दिन के बाद ₹45000 की धनराशि जमा करनी होगी। इसके बाद शेष बची धनराशि आवेदक द्वारा 3 साल तक किस्तों में चुकाई जा सकती हैं।
  • राज्य सरकार द्वारा लखनऊ जिले में 816, गाजियाबाद में 624, मेरठ में 480, गोंडा में 396, मैनपुरी में 96, हरदोई में 96,कानपुर में 48, कन्नौज में 48, उन्नाव में 48, बहराइच में 48,मऊ में 48 बलराम जिले में 48 बाराबंकी में 48 घरों का निर्माण आवास योजना के तहत करने का ऐलान किया गया है
  • हाल ही में देश में प्रधानमंत्रीआवास योजना(पीएमएवाई)के तहत पुरस्कार प्रदान किए गए हैं। जिसमें उत्तर प्रदेश राज्य ने पहला पुरस्कार प्राप्त किया है। साथ ही राज्य के मिर्ज़ापुर नगर को प्रथम नगर पालिका का पुरस्कार प्राप्त हुआ है। जो उत्तर प्रदेश के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है।
  • सत्र् 2022 के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने PM Awas Yojana 2022 के तहत मकान निर्माण हेतु ₹17000 का बजट निर्धारित किया था। राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी का कहना है कि आवास योजना के माध्यम से ‌ आने वाले समय में राज्य के सभी गरीब परिवारों तक इस योजना का लाभ पहुंचा दिया जाएगा।
  • मुख्यमंत्री जी ने राज्य के 17.58 लाख लाभार्थियों को इस योजना के माध्यम से आवास उपलब्ध करवाने की बात कही है। इसमें से अभी केवल 7 लाख लाभार्थियों के लिए पक्के आवास बनकर तैयार हुए हैं और 10.58 लाख लाभार्थियों के मकान का निर्माण कार्य अभी शुरू भी नहीं हुआ है।
  • देश में अभी तक 2 करोड़ लाभार्थियों को आवास योजना के तहत लाभान्वित किया जा चुका है जिनमें 30 लाख नागरिक उत्तर प्रदेश राज्य के निवासी है।

केंद्र सरकार द्वारा PMAY के तहत लांच की गई अफोर्डेबल रेंटल हाउसिंग योजना

Pradhan Mantri Awas Yojana के तहत अफोर्डेबल रेंटल हाउसिंग योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना को केंद्रीय कैबिनेट द्वारा शुरू किया गया है।

क्योंकि हमारे देश में अधिकतर लोग अपने शहर को छोड़कर दूसरी जगह नौकरी करने जाते हैं जिसके कारण उन्हें रहने के लिए घर ढूंढना पड़ता है। जिसमें उन्हें काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

इसी समस्या का समाधान करने के लिए केंद्रीय कैबिनेट द्वारा अफोर्डेबल रेंटल हाउसिंग स्कीम की शुरुआत की है।

जिसके माध्यम से ऐसे सभी लोगों को कम रेट पर रहने के लिए घर उपलब्ध करवाए जाएंगे। इस योजना के तहत खाली पड़े सरकारी प्लाट या इमारतों का इस्तेमाल किया जाएगा।

जिनमें लाभार्थियों को रहने की व्यवस्था के साथ-साथ पानी की सुविधा, बिजली सुविधा, सीवर सुविधा आदि भी प्रदान की जाएंगी। देश के लगभग 3.5 लाख प्रवासी मजदूरों को इस योजना का लाभ प्राप्त होगा।

सरकार ने इस योजना के तहत 25 साल का एग्रीमेंट तय किया है यानी इस स्कीम को 25 साल तक चलाया जाएगा। फिर बाद में आवास क्षेत्रों को लोकल बॉडी के पास सौंप दिया जाएगा। वैसे इस योजना को भविष्य में आगे भी लागू रखने का फैसला भी रखा गया है। अगर प्रवासी मजदूरों को कंपनियां अपनी तरफ से आवास उपलब्ध करवाती है तो सरकार उन्हें प्रोत्साहन देगी और उन्हें टैक्स में छूट भी देगी।

पीएमएवाई के तहत लाभान्वित राज्यों ‌ का विवरण

राज्य का नाम लाभान्वित शहर एवं कस्बों की संख्या
छत्तीसगढ़ 100
उड़ीसा 26
राजस्थान 15
झारखंड 15
उत्तर प्रदेश 13
महाराष्ट्र 13
पश्चिम बंगाल 57
उत्तराखंड 57
हरियाणा 38
गुजरात 45
केरल 52
कर्नाटक 95
जम्मू कश्मीर 19
तमिलनाडु 65

Pradhan Mantri Awas Yojana Statistics

मकान स्वीकृत 112.52 लाख
मकान ग्राउंडेड 80.2 लाख
मकान पूर्ण 48.02 लाख
केंद्रीय सहायता प्रतिबद्ध 1.81 लाख करोड़
केंद्रीय सहायता द्वारा जारी 95777 करोड़
कुल निवेश राशि 7.35 लाख करोड़

Pradhan Mantri Awas Yojana का उद्देश्य

इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य देश के आर्थिक रूप से कमजोर, कम आय वाले और निम्न आय वर्ग वाले परिवारों को उनका खुद का पक्का घर प्रदान करना है। क्योंकि हमारे देश मे आज भी कई परिवार ऐसे हैं जो पैसों की तंगी के कारण इस महंगाई के दौर में खुद का पक्का मकान नहीं बना पाते हैं।

जिसके कारण उन्हें अपना जीवन सड़क के किनारे, झुग्गी-झोपड़ियो एवं कच्चे मकानों में रहकर ही व्यतीत करना पड़ता है। देश के गरीब परिवारों की इसी समस्या का समाधान करने के लिए प्रधानमंत्री जी ने Pradhan Mantri Awas Yojana को शुरू किया है।

इस योजना के तहत पात्र परिवारों को पक्के घर के निर्माण के लिए ‌ बैंक के माध्यम से कम ब्याज दर पर लोन मुहैया करवाया जाता है जिस पर सब्सिडी भी दी जाती है। 

PMAY 2022 के माध्यम से अबतक देश के करोड़ों परिवारों को पक्के मकान की सुविधा प्रदान की जा चुकी है। यह योजना देश के गरीब परिवारों को घर जैसी मूलभूत सुविधा प्रदान करके उनका विकास कर रही है। जिसके परिणाम स्वरूप हमारा देश भी विकास की ओर अग्रसर हो रहा है।

Pradhan Mantri Awas Yojana 2022 के कितने घटक है

इस योजना के चार घटक है। जिनके माध्यम से देश भर में इस योजना का संचालन किया जा रहा है। जो निम्नलिखित इस प्रकार है।

  • इन-सीटू स्लाम पुनर्वास– देश में झुग्गियों वाले स्थानों पर रहने वाले पात्र परिवारों को दूसरी जगह घर मुहैया करवाकर झुग्गी झोपड़ियों को औपचारिक रूप से शहरी क्षेत्र में लाना है। साथ ही केंद्र सरकार द्वारा झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले परिवारों को घर के लिए ₹100000 भी दिए जाएंगे।
  • क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी- इसके द्वारा ‌देश में गृहणी के नाम पर नए मकानों के निर्माण या पुराने मकानों की मरम्मत करने के लिए बहुत ही कम ब्याज दरों पर ₹600000 से लेकर ₹1200000 तक का लोन उपलब्ध करवाया जाता है। इस लोन पर केंद्र सरकार द्वारा सब्सिडी भी प्रदान की जाती है। यह घटक समाज के कमजोर वर्ग के लिए किफायती आवास को बढ़ावा देता है।
  • सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्रों के साथ भागीदारी में किफायती आवास– इस घटक के द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) से संबंध रखने वाले परिवारों को केंद्र सरकार की तरफ से 1.5 की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश इस तरह की आवास योजना को विकसित करने के लिए अपनी एजेंसियों या निजी क्षेत्रों के साथ साझेदारी कर सकते हैं।
  • लाभार्थियों के नेतृत्व वाले व्यक्तिगत घर निर्माण के लिए सब्सिडी- यह घटक उन आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से संबंध रखने वाले परिवारों की आवास आवश्यकता को पूरा करता है जो अन्य तीन घटक के तहत ‌ आवास योजना 2022 का लाभ नहीं उठा सकते हैं। इस घटक के तहत लाभार्थियों को केंद्र सरकार द्वारा 1.5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता नए घर बनाने या पुराने घर की मरम्मत करने के लिए प्रदान किए जाते हैं।

Pradhan Mantri Awas Yojana 2022 के तहत आवेदन हेतु पात्रता

  • आवेदनकर्ता को भारत का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • बीपीएल श्रेणी व निम्न आय वर्ग से संबंध रखने वाले आवेदक ही इस योजना के तहत आवेदन करने के पात्र हैं।
  • आवेदक की आयु 18 वर्ष या इससे अधिक की होनी चाहिए।
  • आवेदक के पास खुद का मकान नहीं होना चाहिए।
  • EWS एवं LIG परिवार के ग्रुप के लिए महिला मुखिया को ही इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • गरीब परिवार के किसी भी सदस्य के पास नौकरी नहीं होनी चाहिए।
  • आवेदक परिवार किसी अन्य सरकारी आवास योजना का लाभ ना ले रहा हो।
  • EWS के संबंध रखने वाले आवेदको की पारिवारिक वार्षिक आय ₹300000 से कम की होनी चाहिए।
  •  LIG वर्ग से संबंध रखने वाले आवेदकों के परिवार की वार्षिक आय ₹600000 से लेकर ₹100000 तक के बीच ही होनी चाहिए।
  • MIG 1 वर्ग से संबंध रखने वाले परिवारों की वार्षिक आय 6 लाख रुपए से लेकर 12 लाख रुपए तक की होनी चाहिए।
  • MIG 2 वर्ग से संबंध रखने वाले परिवार की वार्षिक आय ₹1200000 से लेकर ₹1800000 तक की होनी चाहिए।

महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • पैन कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

Pradhan Mantri Awas Yojana में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

प्रथम चरण

देश के इच्छुक एवं पात्र व्यक्ति जो प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी 2022 के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं वह सर्वप्रथम आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें
इसके पश्चात आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आपको एक विकल्प “citizen assessment” दिखाई देगा |

जैसे ही आप इस विकल्प पर क्लिक करेंगे आपको उसके अंतर्गत दो और विकल्प Slum Dwellers और Benefits Under 3 Components विकल्प दिखाई देंगे |
अब इन विकल्पों पर अपनी पात्रता के अनुसार क्लिक करें तथा प्रधानमंत्री आवास योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भरने की प्रक्रिया शुरू करें |

दूसरा चरण

अपनी पात्रता के अनुसार Slum Dwellers और Benefits under 3 components विकल्प के चुनाव के पश्चात आपके सामने एक कंप्यूटर विंडो खुलेगी जिसमें आपको मांगी गई सूचना को भरना है
सर्वप्रथम 12 डिजिट का आधार नंबर भरें व आधार कार्ड के अनुसार नाम को अंकित करें इसके पश्चात चेक विकल्प पर क्लिक कर दें |

अब ऑनलाइन आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी इस प्रकार है सभी जानकारियों को सही सही भली-भांति भरे |परिवार के मुखिया का नाम
राज्य का नाम
जिले का नाम
आयु
वर्तमान पता
मकान संख्या
मोबाइल नंबर
जाति
आधार नंबर
शहर और गांव का नाम

इसके पश्चात अपने आवेदन फार्म की जांच करले तथा आवेदन फार्म को फाइनल रूप से सबमिट कर दें।
इस प्रकार आप प्रधानमत्री आवास योजना का आनलाईन आवेदन कर सकते है।

पोर्टल पर लॉगिन करने की प्रक्रिया

सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
होम पेज पर आपको साइन इन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा जिसमें आपको अपना यूजरनेम, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
अब आपको साइन इन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
इस प्रकार आप पोर्टल पर लॉगिन कर पाएंगे।